भारत और चीन के बीच 13वें दौर की बातचीत भी बेनतीजा, अब सेना ने लिया यह फैसला

भारत और चीन के बीच एलएसी पर तनाव कम नहीं हो रहा है. पूर्वी लद्दाख से सटी एलएसी (LAC) पर चीन (China) पीछे हटने को तैयार नहीं है. भारत और चीन के बीच एलएसी पर जारी तनाव को लेकर भारत और चीन के मिलिट्री कमांडर्स के बीच 13वें दौर की बैठक भी बेनतीजा रही है. रविवार को हुई बैठक के बाद भारतीय सेना ने बयान जारी इस बारे में जानकारी दी है. एलएसी विवाद पर बैठक के बारे में अपने बयान में भारतीय सेना (Indian Army) ने कहा है कि मीटिंग के दौरान एलएसी के बाकी इलाकों में तनाव खत्म करने को लेकर चर्चा हुई, लेकिन बैठक बेनतीजा रही. हालांकि भारतीय सेना ने चीन को दो टूक कहा है कि चीन इलाके में शांति बहाल करने के लिए पीछे हट जाए.

Also Read This- IMPS लिमिट दो लाख से बढ़कर हुई पांच लाख, RBI ने डिजिटल पेमेंट बढ़ाने को लिया फैसला

भारत और चीन के बीच बैठक बेनतीजा

भारतीय सेना ने बयान में कहा, ‘’मीटिंग के दौरान एलएसी के बाकी इलाकों में तनाव खत्म करने को लेकर चर्चा हुई. भारत ने साफ तौर से कहा कि एलएसी के ऐसे हालात चीन की तरफ से एक-तरफा कारवाई (घुसपैठ) से पैदा हुए हैं, जो दोनों देशों के बीच हुए करार का उल्लंघन है‌. इसलिए चीन को ऐसे कदम उठाने चाहिए (पीछे हटने के लिए) ताकि एलएसी पर शांति बहाल की जा सके.’’ सेना ने बताया है कि चीनी प्रतिनिधिमंडल को ‌ये प्रस्ताव मंजूर नहीं हुआ, इसलिए भारत और चीन के यह मीटिंग बेनतीजा रही‌.

भारतीय सेना ने कहा- दोनों पक्ष स्थिरता बनाये रखें पर सहमत

भारतीय सेना ने कहा, ‘’भारत और चीन दोनों पक्ष संचार बनाए रखने और जमीनी स्तर पर स्थिरता बनाए रखने पर सहमत हुए हैं. हमें उम्मीद है कि चीनी पक्ष द्विपक्षीय संबंधों के समग्र परिप्रेक्ष्य को ध्यान में रखेगा और द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करते हुए बाकी मुद्दों के जल्द समाधान की दिशा में काम करेगा.’’

file photo

गलवान घाटी की हिंसा से जुड़ी आपत्तिजनक तस्वीरें जारी की थी

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच कमांडर लेवल की यह बैठक ऐसे समय में हुई जब एक दिन पहले ही चीन ने 16 महीने पहले हुए गलवान घाटी की हिंसा से जुड़ी आपत्तिजनक तस्वीरें जारी की थी. इस बैठक में भारत की तरफ से लेह स्थित 14वीं कोर (फायर एंड फ्यूरी कोर) के कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल पी जी के मेनन ने हिस्सा लिया. जबकि चीन की तरफ से दक्षिणी शिन्चियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट के कमांडर ने मीटिंग का प्रतिनिधित्व किया. इससे पहले अरूणाचल प्रदेश में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुए फेसऑफ यानि गतिरोध की रिपोर्ट आई थी. इस दौरान भारतीय सेना ने चीन की पीएलए सेना के कुछ सैनिकों को बंधक बना लिया था. हालांकि, दोनों देशों की फ्लैग मीटिंग के बाद इन सैनिकों को कुछ घंटों बाद रिहा कर दिया था और गतिरोध खत्म हो गया था.

भारत और चीन के बीच 13 दौर की हो चुकी है मीटिंग

पूर्वी लद्दाख से सटी एलएसी पर पिछले 17 महीने से चल रहे तनाव के दौरान 13 दौर की मीटिंग हो चुकी हैं. इस दौरान लाइन ऑफ एक्चुयल कंट्रोल (एलएसी) के फिंगर एरिया, कैलाश हिल रेंज और गोगरा इलाकों में तो डिसइंगेजमेंट हो चुका है, लेकिन हॉट स्प्रिंग, डेमचोक और डेपसांग प्लेन्स में तनाव अभी भी जारी है.

2 thoughts on “भारत और चीन के बीच 13वें दौर की बातचीत भी बेनतीजा, अब सेना ने लिया यह फैसला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *