अखिलेश यादव के नए वायदे से बदलेगी यूपी के लोगों की जिंदगी

Report by Deepanshi Sharma

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव से पहले बड़ा ऐलान किया है। अखिलेश यादव ने कहा है कि सपा सरकार एक अभियान चलाने जा रही है। यूपी विधानसभा चुनाव में 300 यूनिट फ्री बिजली के वादे के साथ उतरी समाजवादी पार्टी 18 जनवरी से इसे लेकर अभियान शुरू करेगी।

अखिलेश यादव ने कहा- फॉर्म भरिये, मुफ्त बिजली पाइये

“नाम लिखाएं-300 यूनिट फ्री बिजली पाएं” अभियान का ऐलान अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में किया। अखिलेश यादव के साथ प्रेस कांफ्रेंस में स्वामी प्रसाद मौर्य और अब्दुल्ला आजम भी मौजूद रहे। लखनऊ मुख्यालय पर बुलाई गई प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में अखिलेश यादव ने कहा कि जो लोग भी मुफ्त बिजली पाना चाहते हैं वे सपा द्वारा दिए जाने वाले फॉर्म में अपना नाम लिखवाएँ। लोग वही नाम लिखवाएं जिनके नाम से बिजली का बिल आता है।

अखिलेश यादव ने बिजली वसूली को लेकर लगाए आरोप

सपा ने घरेलू कनेक्शनों पर तीन सौ यूनिट तक मुफ्त बिजली देने का वादा किया है। यह एक महत्वपूर्ण वादा है। उन्होंने उत्तर प्रदेश में बिजली की दरें काफी महंगी होने और बिजली बिल वसूली के नाम पर लोगों को पीड़ा पहुँचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा यूपी के आम लोगों को लगातार बढ़े हुए बिजली के बिल मिले हैं। इसको लेकर कई लोगों पर एफआईआर हुई। लोगों को उत्पीड़ित किया गया।

300 यूनिट बिजली कैसे मिलेगी

यादव ने कहा, समाजवादी पार्टी के अभियान के तहत जो लोग 300 यूनिट फ्री बिजली चाहते हैं उनसे फॉर्म भरवाया जाएगा। जिनके पास बिजली का बिल है वो उसी नाम को लिखें और जो भविष्य में कनेक्शन लेना चाहते हैं वो राशन काड के अनुसार नाम लिखवाएं। अखिलेश यादव ने कहा, हम डोर टु डोर और ऑनलाइन अभियान के साथ ही रथ चलाने की अनुमति मांगेंगे।

अखिलेश यादव ने आपने शब्दों से चलाया वार

सपा की मान्यता रद करने को लेकर दर्ज याचिका के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि पहले भाजपा की मान्यता रद करें क्योंकि मुख्यमंत्री पर भी आपराधिक मुकदमा दर्ज है। डिप्टी सीएम पर भी मुकदमा है। सपा के कई लोगों पर झूठे मुकदमे हैं। पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं पर भी मुकदमे दर्ज हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि अब्दुल्ला आजम को फंसाने में कांग्रेस और भाजपा दोनों थी। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लोगों ने किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने का वादा किया था पर अभी तक नहीं हुई और जब तक किसान आंदोलन कर रहे थे तब वो किसानों को आतंकवादी कह रहे थे। जिन लोगों को किसान आतंकवादी लगते हैं वो अन्न खाना बंद कर दें।

(Deepanshi is student of MA-JMC Of Maharishi University Of Information Technology, Noida.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *