पंजाब के बाद अब यूपी में कांग्रेस को बड़ा झटका, जिससे थी पार्टी को उम्मीदें, बदल गई उसकी निष्ठा

लखनऊ. अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections) के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों सहित नेताओं में जोड़-तोड़ और घमासान मचा हुआ है. सभी अपने-अपने स्तर से अपना और अपनी पार्टी को भविष्य संवारने की कोशिश में जुटे हैं. राजनीतिक हलचल तेज है. सियासी घमासान मचा हुआ है. इसी सबके के बीच अपनी-अपनी संभावनाओं को देखते हुए नेताओं का एक- दूसरे की पार्टियों के प्रति रुझान नही बढ़ रहा है. ऐसे ही एक ताजा घटनाक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव इमरान मसूद ने समाजवादी पार्टी के पक्ष में बयान देकर यूपी में राजनीतिक सरगर्मी और तेज कर दी है. कांग्रेसी नेता इमरान मसूद ने कांग्रेस के मुकाबले समाजवादी पार्टी को बेहतर बताया है. इमरान मसूद का कहना है कि उत्तर प्रदेश में सपा (SP) सबसे बड़ी पार्टी है और बीजेपी (BJP) को यूपी में सिर्फ सपा ही रोक सकती है.

यह भी पढ़ें- ‘गुरू’ का खेल समझ पाने में कांग्रेस फेल, नवजोत सिंह सिद्धू पर लिया जा सकता है बड़ा फैसला

इमरान मसूद ने कहा, जनता का झुकाव कांग्रेस की तरफ नहीं

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव इमरान मसूद ने समाजवादी पार्टी के पक्ष में कई बातें की हैं. इमरान मसूद ने कांग्रेस के मुकाबले सपा को मजबूत विपक्ष बताकर अपनी ही पार्टी के नेतृत्व पर सवाल उठाया है. इमरान मसूद ने कहा है कि प्रियंका गांधी मेहनत तो कर रही है, लेकिन जनता का झुकाव हमारी ओर नहीं है. हमें समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ना चाहिए. अब यूपी चुनाव से पहले इमरान मसूद के कांग्रेस के पक्ष में बातें करने से अनुमान लगाया जा रहा है कि इमरान मसूद जल्द कांग्रेस को अलविदा कह साइकिल की सियासी सवारी कर सकते है.

इमरान मसूद

अखिलेश यादव ने कहा- इमरान मसूद का स्वागत है

इमरान मसूद के समाजवादी पार्टी के पक्ष में बात करने के मुद्दे पर उस वक्त और हवा मिली जब पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इमरान का पार्टी में स्वागत करने की बात कह दी. इमरान मसूद के समाजवादी पार्टी के पक्ष में बात करने के बारे में अखिलेश यादव ने कहा कि अगर वह सपा में आते हैं तो उनका स्वागत है.

इसी साल कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव बने थे इमरान

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बेहद कद्दावर माने जाने वाले इमरान मसूद इसी साल जनवरी में कांग्रेस ने इमरान मसूद को कांग्रेस कमेटी का राष्ट्रीय सचिव बनाया था. विधानसभा चुनाव से पहले इमरान मसूद को इतना बड़ा पद देकर कांग्रेस पश्चिमी यूपी में अपना कद मजबूत करना चाहती थी. गौरतलब है कि साल 2019 में कांग्रेस ने इमरान मसूद को सहारनपुर सीट से विधानसभा का टिकट दिया था लेकिन वो चुनाव हार गए थे. 2014 के लोकसभा चुनावों में पीएम मोदी पर विवादित टिप्पणी के बाद इमरान मसूद एकाएक चर्चा में आए थे. इमरान मसूद 2012 में कांग्रेस में शामिल हुए थे. उससे पहले वह समाजवादी पार्टी में ही थे.

2 thoughts on “पंजाब के बाद अब यूपी में कांग्रेस को बड़ा झटका, जिससे थी पार्टी को उम्मीदें, बदल गई उसकी निष्ठा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *