योगी आदित्यनाथ पर उद्धव ठाकरे के पुराने बयान पर अब विवाद, बात चप्पलों से पिटाई तक पहुंची थी

महाराष्ट्र में सियासी छींटाकशी का दौर जारी है. अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर किया गया महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक पुराना बयान विवादों में आ गया है. दरअसल केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने आरोप लगाया था कि, उद्धव ठाकरे ने पूर्व में योगी आदित्यनाथ को चप्पल से पीटने की बात कही थी.

योगी आदित्यनाथ ने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर चप्पल पहनकर फूलमाला चढ़ाई थीं

हालांकि शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने गुरुवार को इस मामले में दावा किया कि उद्धव ने ये बयान इसलिए दिया था क्योंकि योगी आदित्यनाथ ने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर चप्पल पहनकर फूलमाला चढ़ाई थीं.

यह भी पढ़ें- गुरु ग्रंथ साहिब के तीन पावन स्वरूपों को भारत वापस लाने के लिए सिख समुदाय बोला- Thank You Modi ji

उद्धव पर विवादास्पद टिप्पणी के चलते केंद्रीय मंत्री राणे को मंगलवार को हिरासत में लिया गया था

बता दें कि, केंद्रीय मंत्री राणे को उद्धव पर की गई विवादास्पद टिप्पणी के चलते मंगलवार को हिरासत में लिया गया था. बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था. रिहा होने के बाद राणे ने आरोप लगाया था कि, उद्धव ठाकरे ने पूर्व में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चप्पल से पीटने की बात कही थी.

संजय राउत

संजय राउत बोले- योगी आदित्यनाथ ने किया था महाराष्ट्र की संस्कृति का अपमान

राणे के आरोपो पर पत्रकारों को जवाब देते हुए संजय राउत ने कहा, “उद्धव ठाकरे ने ये बयान दो साल पहले दिया था. योगी आदित्यनाथ ने चप्पल पहनकर छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर फूलमाला चढ़ाई थी. ये महाराष्ट्र की संस्कृति का भी अपमान था इसलिए उद्धव ने ये बयान दिया था.” साथ ही उन्होंने कहा, “अगर भाजपा को भारत के महान सपूत और योद्धा का अपमान सही लगता है तो ठीक है. क्या भाजपा इतने सालों से सो रही है? क्या उन्हें नहीं पता कि लोगों की इज्जत कैसे की जाती है?”

यह भी पढ़ें- मुख्य न्यायाधीश से फ़रियाद- सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह मामले में कीजिये इंसाफ

केंद्रीय मंत्री केंद्र सरकार नहीं होता

राणे के ‘महाराष्ट्र को बंगाल’ नहीं बनने देंगे वाले बयान पर संजय राउत ने कहा, “केंद्रीय मंत्री केंद्र सरकार नहीं होता. इसलिए राणे को ऐसा कहने का कोई हक नहीं है. यदि कोई बातचीत होनी भी होगी तो हम पीएम नरेंद्र मोदी से करेंगे.”

3 thoughts on “योगी आदित्यनाथ पर उद्धव ठाकरे के पुराने बयान पर अब विवाद, बात चप्पलों से पिटाई तक पहुंची थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *