शिक्षा के उजाले से समाज को रोशन करें विद्यार्थी

  • महर्षि यूनिवर्सिटी ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के तीसरे दीक्षांत समारोह में विद्यार्थियों को मिलीं डिग्रियां
  • विज्ञान एवं सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स राज्य मंत्री अजीत सिंह पाल ने दीं 200 से ज्यादा डिग्रियां

Written By Ajai Kashyap :

लखनऊ। अच्छी और आधुनिक शिक्षा हासिल करें। एक बेहतर इंसान बनकर लोगों की सेवा करें। समाज में शिक्षा का उजाला फैलाएं। देश के लिए अपना सर्वस्व अर्पण करें। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में पढ़ाई पूरी कर डिग्री हासिल करने वाले विद्यार्थियों से यह आह्वान विद्वानों ने किया है। महर्षि यूनिवर्सिटी ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के तीसरे दीक्षांत समारोह में सोमवार को पीएचडी, परास्नातक और स्नातक की पढ़ाई पूरी करने वालों को डिग्रियां प्रदान की गईं।

डिग्रियां प्राप्त करने के बाद अतिथियों के साथ ग्रुप फोटो खिंचवाते स्टूडेंट्स

सीतापुर रोड स्थित विश्विद्यालय परिसर में आयोजित दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि विज्ञान एवं सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स राज्य मंत्री अजीत सिंह पाल ने कहा कि मुझे विश्वास है कि आज डिग्री हासिल करने वाले विद्यार्थी अपने साथ-साथ आने वाले वर्षों में देश के लिए भी सफलता के तमाम मुकाम हासिल कर हम सभी को गौरवान्वित करेंगे। मैं व्यक्तिगत तौर पर ऐसा महसूस करता हूँ कि इस महर्षि विश्वविद्यालय में अध्यनरत सभी उपाधिधारक, जिनको आज उपाधि प्राप्त हो रही है, वे निश्चित ही संस्कृति, भारतीय परम्परा आदि नैतिक गुणों के अनुसरण में समाज में अच्छा प्रदर्शन करेंगे और एक अच्छे नागरिक के रूप में अपनी सेवायें देंगे।

दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि विज्ञान एवं सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स राज्य मंत्री अजीत सिंह पाल को चांसलर श्री अजय प्रकाश श्रीवास्तव ने उनका स्केच चित्र भेंट किया.

मैं सभी उपाधिधारकों से यह अपील करूँगा कि आप अपने जीवन में आगे जो भी कुछ बनें…डॉक्टर, इंजीनियर, आईएएस, पीसीएस, बिजनेसमैन या कुछ भी, लेकिन उससे पहले आप एक अच्छे नागरिक बनिएगा। क्योंकि अच्छे नागरिक बनेंगे, तो कोई भी पद आपको दिया जाएगा आप उसकी शोभा को स्वतः ही बढ़ा देंगे और देश अपने आप आगे बढ़ेगा। मैं उत्तर प्रदेश शासन, उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से यह विश्वास दिलाता हूँ कि विश्वविद्यालय के जितने भी विकास के कार्य हैं और इन विद्यार्थियों के लिए हमारा सहयोग सदैव उपलब्ध रहेगा।

विशिष्ट अतिथि केजीएमयू के रेडिएशन ऑन्कोलॉजी विभाग के हेड और प्रोफेसर डॉक्टर एम.एल.बी. भट्ट को वाइस चांसलर प्रो. भानु प्रताप सिंह और रजिस्ट्रार अखंड प्रताप सिंह ने उनका स्केच चित्र भेंट किया.

विशिष्ट अतिथि केजीएमयू के रेडिएशन ऑन्कोलॉजी विभाग के हेड और प्रोफेसर डॉक्टर एम.एल.बी. भट्ट ने कहा कि महर्षि विश्विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में उच्चस्तरीय और उल्लेखनीय काम कर रहा है। यहां महर्षि महेश योगी जी के आदर्शों का पालन करते हुए आधुनिक शिक्षा दी जा रही है। भावातीत ध्यान ने लोगों का मानसिक और आत्मिक विकास करते हुए उनके संपूर्ण व्यक्तित्व का भी विकास किया है। डिग्रीधारकों से प्रोफेसर भट्ट ने कहा कि वे अब अपने साथ-साथ देश का नाम रोशन करें। शिक्षा का उजाला समाज में फैलाएं। अच्छी शिक्षा हासिल करें। अच्छे इंसान बनें। उन्होंने सभी डिग्रीधारकों और विद्यार्थियों से कहा कि वे अपने बेहतरीन काम से ऐसा मुकाम हासिल करें जो सबके लिए मिसाल बने।

दीक्षांत समारोह की शुरुआत में अयोध्या से आये आचार्यों ने विधिवत पूजन करवाया।

इससे पूर्व समारोह की शुरुआत दीक्षांत शोभायात्रा से हुई। इसके बाद दीप प्रज्ज्वलन और गुरु पूजा हुई। अयोध्या से आये आचार्यों ने विधिवत पूजन करवाया। इस अवसर पर कन्वोकेशन डॉक्यूमेंट का विमोचन भी मंचासीन अतिथियों ने किया।

दीक्षांत समारोह के आरंभ में स्टूडेंट्स ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की.

अपने अध्यक्षीय संबोधन में महर्षि यूनिवर्सिटी के चांसलर अजय प्रकाश श्रीवास्तव ने कहा कि सभी शिक्षकों को नमन करता हूँ क्योंकि शिक्षक ही देश का निर्माण करते हैं। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि डिग्री हासिल करने वाले विद्यार्थी आज से नया जीवन शुरू करेंगे। डिग्री हासिल करने वाले सभी विद्यार्थियों से आह्वान करता हूँ कि जीवन में अच्छे कार्य करते हुए सफलता के नए-नए आयाम स्थापित करें। पढ़ाई यानि ज्ञान हासिल करने की प्रक्रिया निरंतर चलती रहनी चाहिए।

मुख्य अतिथि विज्ञान एवं सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स राज्य मंत्री अजीत सिंह पाल भी दीक्षांत जुलूस में शामिल हुए.

वाइस चांसलर प्रोफेसर भानुप्रताप सिंह ने विश्विद्यालय की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए कहा कि हम नई शिक्षा नीति सहित यूजीसी के सभी मानकों का पालन करते हुए समय की मांग के अनुरूप शिक्षा दे रहे हैं। इसमें इंडस्ट्री और एकेडमिक जरूरतों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। प्रो सिंह ने कहा कि एकेडमिक एक्सीलेंस के उच्च स्तर का पालन हम कर रहे हैं। नए कोर्स और नए पाठ्यक्रम महर्षि यूनिवर्सिटी में लगातार शामिल किए जा रहे हैं। हम विद्यार्थियों के संपूर्ण विकास का लक्ष्य लेकर कार्य कर रहे हैं।

समारोह में कन्वोकेशन डॉक्यूमेंट का विमोचन भी किया गया.

महर्षि यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर जनरल प्रोफेसर ग्रुप कैप्टन ओपी शर्मा ने कहा कि हमें अपनी क्षमताओं का अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए। खुद को पहचानिए और अपने ज्ञान में निरंतर वृद्धि करते रहिए। आप जो भी कार्य करें, उसमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें। भावातीत ध्यान ऐसा माध्यम है जो आपके संपूर्ण विकास में सहायक है। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार प्रो. अखण्ड प्रताप सिंह ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आज डिग्री हासिल करने वाले अपने ज्ञान से देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।समारोह का संचालन डायरेक्टर प्लानिंग एंड इम्प्लीमेंटेशन दिनेश पाठक ने किया।

समारोह में डिग्री लेने आये स्टूडेंट्स में भारी उत्साह दिखा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *