कोरोना वैक्सीन की एक डोज भी दोनों के बराबर, मौत का खतरा हो जाता है 96.60 फीसदी कम

केंद्र सरकार का कहना है कि कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की केवल एक खुराक लेने वालों में भी मौत का खतरा 96.60 फीसदी कम हो गया है। वहीं चार महीनों के आंकड़ों पर गौर करें तो यह कोरोना वैक्सीन की दो डोज लेने वालों की संख्या से ज्यादा कम नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) के आंकड़ों के मुताबिक दोनों डोज लेने वालों में 97.5 फीसदी मौत की आशंका कम हो गई है। इस लिहाज से देखा जा सकता है कि कोरोना वैक्सीन की पहली और दूसरी खुराक लेने वालों में मौत की आशंका में कमी लगभग बराबर है।

Also Read This- We need to discourage Hollywood movies as they are taking over our screens: Kangana

कोरोना वैक्सीन की 58 फीसदी बालिग आबादी को अब तक वैक्सीन की पहली डोज मिल गई है

मौत को रोकने में कोरोना वैक्सीन के प्रभाव (Effects of Corona Vaccine) से संबंधित आंकड़ों को पेश करते हुए गुरुवार को आईसीएमआर के डीजी डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि जल्द ही कोविन प्लैटफॉर्म और नेशनल कोविड-19 टेस्टिंग डेटाबेस के आधार पर रियलटाइम वैक्सीन ट्रैकर डेटा भी उपलब्ध करवाया जाएगा। गुरुवार को जारी आंकड़ों की बात करें तो देश के 58 फीसदी बालिग आबादी को कम से कम वैक्सीन की पहली डोज मिल गई है। वहीं 18 फीसदी लोग ऐसे हों जिनको दोनों डोज लग चुकी हैं।

कोरोना वैक्सीन की गुरुवार को शाम सात बजे तक टीके की 73,80,510 खुराक दी गई

मंत्रालय ने कहा कि गुरुवार को शाम सात बजे तक टीके की 73,80,510 खुराक दी गई। देर रात जारी होने वाली अंतिम रिपोर्ट में दैनिक टीकाकरण की संख्या बढ़ने की उम्मीद है। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, शाम सात बजे तक की रिपोर्ट के मुताबिक 54,58,47,706 लाभार्थियों को पहली खुराक और 16,94,06,447 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

पहली खुराक के साथ ही मौत की आशंका लगभग 96 फीसदी कम हो जाती है

नीति आयोग (NITI Aayog) के सदस्य डॉ. वीके पॉल (Dr. VK Paul) ने कहा है कि जिन लोगों ने अब तक कोरोना वैक्सीन की खुराक नहीं ली है, वे जल्द ही ले लें। पहली खुराक के साथ ही मौत की आशंका लगभग 96 फीसदी कम हो जाती है। भीड़-भाड़ से बचने का निर्देश देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि आगामी त्योहारों को देखते हुए लोगों को और सतर्क होंने की जरूरत है। हर हाल में भीड़ से बचना चाहिए और प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए।

2 thoughts on “कोरोना वैक्सीन की एक डोज भी दोनों के बराबर, मौत का खतरा हो जाता है 96.60 फीसदी कम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *