नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर कैप्टन अमरिंदर पर साधा निशाना, कहा- घमंडी राजा

Report by Deepanshi Sharma.

पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) से पहले सियासी दलों में जुबानी जंग तेज हो गई है. पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) लगातार विरोधी दलों पर हमलावर हैं. उन्होंने एक बार फिर कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) पर निशाना साधा है. नवजोत सिंह सिद्धू ने कैप्टन पर तीखा हमला करते हुए कहा, ‘कैप्टन अमरिंदर सिंह अभी घर बैठे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के पैरों में पड़े हुए हैं.’ सिद्धू का यह बयान कैप्टन की पार्टी और भाजपा के गठबंधन की घोषणा के एक दिन बाद आया है.

नवजोत सिंह सिद्धू ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को घेरा

नवजोत सिंह सिद्धू ने कपूरथला में एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा और कैप्टन अमरिंदर सिंह पर जमकर हमला बोला. उन्होंने अमरिंदर सिंह को ‘घमंडी राजा’ कहा. कैप्टन के पुराने बयान को दोहराते हुए सिद्धू ने कहा, ‘कैप्टन (अमरिंदर सिंह) ने कहा था कि सिद्धू के लिए दरवाजे बंद हो चुके हैं, लेकिन आज वे (अमरिंदर सिंह) घर पर बैठे हैं और पीएम मोदी के तलवे चाट रहे हैं.’ बता दें कि कांग्रेस में लंबे समय तक चले अंदरूनी कलह के बाद बीते 2 नवंबर को कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था और अपनी पार्टी बनाई थी. सूत्रों की मानें तो भाजपा और कैप्टन की पार्टी के गठबंधन में भाजपा ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है. पंजाब में भाजपा 70 से 80 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है.

2017 में पंजाब में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जीती थीं 77 सीटें

2017 में पंजाब में हुए विधानसभा चुनाव में 77 सीटों पर जीत हासिल करते हुए कांग्रेस ने भाजपा और शिरोमणी अकाली दल की गठबंधन सरकार को राज्य की सत्ता से बाहर किया था. वहीं, अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने 117 सीटों में से 20 सीटों पर जीत हासिल की थी. अकाली दल को 15 और भाजपा को मात्र 3 सीटों पर ही जीत मिली थी.

यह भी पढ़ें- कांग्रेसी कलह और मियाँ हुजूर की चिंता

नवजोत सिंह सिद्धू और अरविंद केजरीवाल एक-दूसरे के खिलाफ लगातार ट्विटर पर आरोप लगा रहे

यहां तक की पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक-दूसरे के खिलाफ लगातार ट्विटर पर निशाना साध रहे हैं. अरविंद केजरीवाल ने पंजाब सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया तो सिद्धू ने पलटवार करते हुए कहा कि सिर्फ चुनावों में राजनीतिक पर्यटक के रूप में सामने आने वाला पंजाब की जमीनी हकीकत कभी नहीं जान पाएगा. उन्होंने केजरीवाल के चुनावी घोषणाओं पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब मॉडल व्यापक रिसर्च पर बना है ना कि “खाली वादों” पर.

केजरीवाल भी सिद्धू पर लगा रहे कई आरोप

ट्विटर पर अरविंद केजरीवाल के ट्वीट का जवाब देते हुए सिद्धू ने लिखा, “पंजाब मॉडल व्यापक रिसर्च पर बना है ना कि आपकी तरह खाली वादों और अनुमानों पर. रेत खनन से राजस्व की क्षमता 2,000 करोड़ रुपए है ना कि 20,000 करोड़ रुपए. जबकि शराब से 30,000 करोड़ रुपए की राजस्व क्षमता है, जिसका आपने दिल्ली में निजीकरण कर दिया और दीप मल्होत्रा और चड्ढा जैसों को मुफ्त में चलाने को दे दिया.”
इससे पहले केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा था, “अखबार/TV वालों ने आपके CM के हल्के में रेत चोरी पकड़ी है. उनका कहना है मुख्यमंत्री के रेत माफिया से संबंध हैं. CM कोई ऐक्शन नहीं ले रहे. बादल जी और कैप्टन साहिब दोनों इस पर चुप हैं. आप भी चुप हैं. क्यों? मुख्यमंत्री से लेकर नीचे तक रेत चोरी हो रही है. इसे रोकेंगे तो 20 हजार करोड़ रुपए आ जाएंगे.”

सिद्धू बोले- लोगों को बेवकूफ बनाना बंद करें केजरीवाल

सिद्धू ने एक और ट्वीट में कहा, “सिर्फ चुनावों में राजनीतिक पर्यटक के रूप में सामने आने वाला पंजाब की जमीनी हकीकत कभी नहीं जान पाएगा. 5 साल जब आप गायब थे, मैंने रेत खनन नीति बनाई. माइनिंग माफिया के खिलाफ इसे लागू कराने के लिए संघर्ष किया और लोगों के मुद्दे उठाए. जबकि आप पीछे हट गए थे और ड्रग माफिया से माफी मांग ली थी.” सिद्धू ने इससे पहले केजरीवाल से पूछा था कि पंजाब की जनता के लिए की गई मुफ्त योजनाओं के वादों के लिए पैसे कहां से आएंगे, जिसके बाद दोनों के बीच ट्विटर पर ‘जंग’ छिड़ी हुई है. सिद्धू ने 7 दिसंबर को एक ट्वीट में लिखा था कि पंजाब के लोग अरविंद केजरीवाल से जानना चाहते हैं कि आप जो हर दिन मुफ्त में चीजें देने की घोषणा कर रहे हैं, उसके लिए पैसा कहां से लाएंगे? उन्होंने लिखा था, “अगर आप वादों के लिए बुनियादी आर्थिक आधार नहीं प्रदान कर सकते तो लोगों को बेवकूफ बनाना बंद करें. पंजाबी आमदनी चाहते हैं ना कि भीख. पंजाब मॉडल वो मॉडल है, जो सभी पंजाबियों को आय और मौका उपलब्ध कराती है.”

आप आदमी पार्टी के कई वायदे

आम आदमी पार्टी (AAP) ने वादा किया है कि अगर AAP सत्ता में आती है, तो उसकी सरकार राज्य की प्रत्येक महिला के खाते में 1,000 रुपए प्रति माह डालेगी और उन्होंने इसे “दुनिया का सबसे बड़ा महिला सशक्तीकरण” कार्यक्रम करार दिया. इससे पहले वह हर घर के लिए 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली, 24 घंटे जलापूर्ति, सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज और दवाओं का वादा कर चुके हैं.

(Deepanshi is student of MA (J&MC) 1st Semester from MAHARISHI UNIVERSITY INFORMATION & TECHNOLOGY)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *