गुरु ग्रंथ साहिब के तीन पावन स्वरूपों को भारत वापस लाने के लिए सिख समुदाय बोला- Thank You Modi ji

भोपाल, एएनआइ। भोपाल में सिख समुदाय के सदस्यों ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी को धन्यवाद दिया। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद वहां से गुरु ग्रंथ साहिब के तीन पावन स्वरूपों को वापस लाने के लिए आभार जताया है। इसके साथ ही उन्होंने युद्धग्रस्त देश से सिख और हिंदू परिवारों की सुरक्षित वापसी के लिए भारत सरकार को भी धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें- मुख्य न्यायाधीश से फ़रियाद- सुप्रीम कोर्ट के सामने आत्मदाह मामले में कीजिये इंसाफ

गुरु ग्रंथ साहिब के तीन पावन स्वरूपों को वापस लाने के लिए आभार

भोपाल के अरेरा कालोनी में गुरुद्वारा सिंह सभा के एक सदस्य ने एएनआइ से बात करते हुए कहा, ‘पूरे सिख समुदाय ने सिख और हिंदू परिवारों की सुरक्षित वापसी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी को धन्यवाद दिया। इसके साथ ही अफगानिस्तान में फंसे शेष सिख और हिंदू परिवारों की सुरक्षित वापसी के लिए जम्मू, कानपुर, शिमला और अमृतसर के गुरुद्वारों में भी शुकराना की अरदास का आयोजन किया गया।

यह भी पढ़ें- नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 लागू करने वाला दूसरा राज्य बना मध्य प्रदेश, युवाओं के करियर को मिलेगी उड़ान

गुरु ग्रंथ साहिब के तीन पावन स्वरूपों को भारतीय वायु सेना के विमान से लाया गया

बता दें कि अफगानिस्तान के काबुल के एक और जलालाबाद के दो गुरुद्वारों से गुरु ग्रंथ साहिब के तीन स्वरूपों को काबुल से मंगलवार को भारतीय वायु सेना के विमान से अफगानिस्तान से वापल लाया गया। इस विमान में 75 लोग सवार थे। तीनों पावन स्वरूप पहले काबुल से दुशांबे लाए गए और फिर वहां से इन्हें विशेष विमान से नई दिल्ली लाया गया।

यह भी पढ़ें- नई ड्रोन नीति संवार देगी युवाओं की जिंदगी, देश भी करेगा तरक्की

पावन स्वरूपों को दिल्ली के गुरु अर्जुन देव गुरुद्वारा ले लाकर स्थापित किया गया

दिल्ली एयरपोर्ट पर विमान के उतरने के बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत गौतम पूरे श्रद्धाभाव के साथ विमान से पावन स्वरूपों को एयरपोर्ट के वीआइपी लाउंज तक लेकर आए। यहां वीआइपी लाउंज के बाहर बड़ी संख्या में लोग पावन स्वरूप के दर्शन के लिए एकत्रित थे। फूलों की वर्षा के बीच यहां से पावन स्वरूपों को पालकी साहिब में रखा गया। फिर पूरे विधि विधान के साथ पालकी साहिब पर पावन स्वरूपों को दिल्ली के गुरु अर्जुन देव गुरुद्वारा ले लाकर स्थापित किया गया।

One thought on “गुरु ग्रंथ साहिब के तीन पावन स्वरूपों को भारत वापस लाने के लिए सिख समुदाय बोला- Thank You Modi ji

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *